You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

Share your ideas and suggestions on strengthening eWaste Management in Uttarakhand

Start Date: 18-02-2020
End Date: 31-03-2020

Growth in the IT and communication sectors has enhanced the usage of the electronic equipment exponentially. Faster upgradation of electronic product is forcing consumers to ...

See details Hide details

Growth in the IT and communication sectors has enhanced the usage of the electronic equipment exponentially. Faster upgradation of electronic product is forcing consumers to discard old electronic products very quickly, which, in turn, adds to e-waste to the solid waste stream. The growing problem of e-waste calls for greater emphasis on recycling e-waste and better e-waste management.

The citizens have a very important role to play in e-waste management. We casually throw many small gadgets along with dumped waste and many people openly burn those accumulated waste. A number of hazardous substances such as dioxins and furans are released in the process which we breathe. This is a very unhealthy practice, which we should immediately stop.

Share your idea and suggestion on strengthen eWaste Management in Uttarakhand

All Comments
Reset
58 Record(s) Found

Arun Choudhary 5 months 4 weeks ago

corona virus can be stopped only by stopping the social distancing, if we start accommodating people to their respective home town or village it may be harmful because they could be a carrier for virus infection. In my opinion people has to be quarantine wherever they are, and has to be taken care for their basic needs like food and medicine.

SANTOSH KHATRI 5 months 4 weeks ago

मेडिकल फील्ड से जुड़े वे लोग जिनके पास अच्छा एक्सपीरिएंस है उनको सरकार द्वारा जिम्मेदारी देनी चाहिए कि वे अपने आस पास ग्रामीण लोगो को जागृत करे और वे ही टेस्टिंग कित द्वारा प्रत्येक आदमी की जांच करे घर घर जाकर जिससे ग्राउंड लेवल पर पता चले की कितने लोग संक्रमित हैं पूरा डाटा सरकार के पास पहुंच जाए क्यों की डॉक्टर १२००० की जनसंख्या के लिए एक है भारत में और वो घर घर जाकर चेक नहीं कर सकता है इस संक्रमण को सरकार मेडिकल डिप्लोमा और डिग्री धारकों को जिनके पास उचित कुशलता है उनको ये जिम्मेदारी दे सकती

kishor singh 5 months 4 weeks ago

सभी लोग जो रास्ते में या दूसरे शहर में फसे हुए है और अपने होम टाउन में जाना चाहते है, उनकी प्रोपर स्करेअनिंग की जाय और आधार कार्ड बेस मैडिकल जांच की जाये और उन्हें उनके घर तक छोड़ने की ब्यवस्था की जानीं चाहिए। लोगो की ट्रैकिंग के लिए ऑनलाइन प्रोसेस किया जाना चाहिए।

Hoshiar Singh Kalsi 6 months 17 hours ago

अगर उत्तराखंड सरकार को 26मार्च2020 से 15 अप्रैल तक देहरादून क्षेत्र में कोरोनावायरस के प्रति जागरूकता अथवा पुलिस के सहयोग के लिए मैं इस घड़ी में सदैव तत्पर और उपलब्ध हूँ। यदि स्थानीय प्रशासन को वॉलेंटियर्स के रूप में आवश्यकता हो तो मैं भी सदैव उपलब्ध रहूँगा और राष्ट्र को इस वैश्विक बीमारी से लड़ने व राष्ट्र के पुनर्निर्माण के लिए भागीदार बनने का आकांक्षी रहूँगा।

RATAN SINGH 6 months 1 day ago

मेरा कमरा कालोनी के प्रारम्भ में पड़ता है। मैंने अपने गेट व अपने सामने वाले के मैन गेट पर और बगल वाले दो और गेट पर स्लोगन लिखकर चस्पा रखा है। मुहल्ले के लोगों को फोन कर अपने-अपने गेट के पास पानी की बाल्टी, जग और साबुन रखने के लिए कहा है।

RATAN SINGH 6 months 1 day ago

अगर उत्तराखंड सरकार को 14मार्च2020 तक हल्द्वानी क्षेत्र में कोरोनावायरस के प्रति जागरूकता अथवा पुलिस के सहयोग के लिए मैं इस घड़ी में सदैव तत्पर और उपलब्ध हूँ। यदि स्थानीय प्रशासन को वॉलेंटियर्स के रूप में आवश्यकता हो तो मैं सदैव उपलब्ध रहूँगा और राष्ट्र को इस वैश्विक बीमारी से लड़ने व राष्ट्र के पुनर्निर्माण के लिए भागीदार बनने का आकांक्षी रहूँगा।

SHASHANK SIKHOLA 6 months 3 days ago

उत्तराखण्ड को सक्षम और पर्यावरण अनुकूल बनाने के लिए हमें उचित कदम उठाने होंगे जो निम्न प्रकार हैं:1.प्राकृतिक संसाधनों को बचाने के लिए जागरूकता कार्यक्रम, 2.खाली स्थानों ओर सड़क किनारे वृक्षारोपण,3.सार्वजनिक यातायात वाहनों के इस्तेमाल हेतु सस्ता किराया पद्धति,4.वर्षा के जल उपयोग हेतु हार्वेस्टिंग व्यवस्था,5.बिजली खपत में कमी हेतु सोलर को बढ़ावा,6.एलपीजी के स्थान पर पीएनजी और बायोगैस का उपयोग,7.साइकिल्स पर सस्बसिडी देकर सड़क हादसों,प्रदूषण,यातायात ठप और स्वास्थ्य जैसी समस्याओं से निपटा जा सकता है

Eklavya Dubey 6 months 3 days ago

We cant do anything by spreading awareness here...because majority of the crowd is from other states in terms of students and tourists....
All we need to do is ACT upon it and we need to install 3 bins as a set at every 500 m in the hills and 1km down throughout the valley..people should be asked to collect waste accordingly in those bins and the municipslity vehjcle can then use the waste in production of fertilizers which can be then used in the plant nurseries,households etc.

GOURAV SINGH 6 months 5 days ago

For an effective e-waste management system:
1-Collection of e-waste from the source of generation and transportation to disposal sites and treatment facilities require special logistic requirements.
2-Disposal of e-waste requires special treatment to minimize impacts on the environment; e-waste contains many hazardous substances that are extremely dangerous to human health and the environment
3-E-waste is a rich source of precious metals which can be recovered/reused during production cycle.